You are currently viewing Paheliyan – 461 se 470 tak

Paheliyan – 461 se 470 tak

Paheliyan,पहेलियों की दुनिया में आपका स्वागत है, जहां रचनात्मकता और बुद्धि हमारे दिमाग को चुनौती देने और मनोरंजन करने के लिए एक साथ आते हैं। पहेलियां सदियों से मानव इतिहास का हिस्सा रही हैं, जो हमारे दिमाग का व्यायाम करने और हमारे समस्या को सुलझाने के कौशल का परीक्षण करने का एक मजेदार तरीका प्रदान करती हैं। प्राचीन सभ्यताओं से लेकर आधुनिक समय की पॉप संस्कृति तक, पहेलियों ने कई रूपों और विविधताओं को अपना लिया है, प्रत्येक अपने तरीके से अद्वितीय है। इस ब्लॉग में, हम पहेलियों की आकर्षक दुनिया का पता लगाएंगे, जिसमें क्लासिक ब्रेन टीज़र से लेकर नई और नई चुनौतियाँ शामिल हैं। खोज की इस यात्रा में हमसे जुड़ें और देखें कि क्या आपके पास रहस्य को सुलझाने के लिए क्या है। क्या आप अज्ञात की चुनौती लेने के लिए तैयार हैं? चलो शुरू करें!

Paheliyan:

461

एक  पक्षी  ऐसा देखा , ताल किनारे रहता था। 

मुंह  से आग उगलता था, दम से द्रव को पीता था। 

उत्तर – दीपक 

462 

एक जानवर ऐसा, जिसकी पूंछ पर पैसा ,

ताज शोभे  पर बादशाह के जैसा। 

उत्तर – मोर 

463 

वह क्या है जो ऊपर निचे होता है हिलता नहीं है ?

उत्तर – तापमान 

464 

ऐसा क्या है जो हमेशा आता है लेकिन पहुँचता कभी नहीं ?

उत्तर – आने वाला कल 

465 

हाथी फ़रवरी के बजाय जनवरी में ज्यादा पानी क्यों पीता है ?

उत्तर – जनवरी में ज्यादा दिन होते है

466 

ऐसी चीज बताओ जो तुम्हारी है लेकिन उसे दूसरे इस्तेमाल करते हैं ?

उत्तर – तुम्हारा नाम 

467 

वह क्या है जो आपके कुछ भी बोलने से टूट जाती है ?

उत्तर – खामोशी  

468 

पांच अक्षर का मेरा नाम, उल्टा – सीधा एक समान 

उत्तर – मलयालम 

469 

छोटा – सा काला घर, बरसात में चलता इधर – उधर ?

उतर – छाता 

470 

बीसों का सिर काट लिया, न मारा न खून किया ?

उत्तर – नाख़ून 

More Paheliyan to read:

Paheliyan with answer

Hindi paheliyan

Dimagi paheliyan with answer

Majedar hindi

Hard paheliyan with answer

Paheliyan hindi

Paheliyan paheliyan

Hindi mein paheliyan

New paheliyan

Check out our daily hindi news:

Breaking News

Entertainment News

Cricket News

Leave a Reply