Paheliyan  1 se 10 tak

दिखने में वह काला है, और जलने पर लाल, फेकने पर है वह सफेद, खोलो बच्चों उसका भेद। उत्तर- कोयला

एक महल  के  रखवाले, दोनों लम्बे दोनों काले, ठाकुरों की शान है वह, मुर्दो की जान है  वह। उत्तर – मूँछ

बरसात में याद दिलाये ,पानी धूप में काम आये। उत्तर – छाता

लाल घोड़ा अड़ा रहे, काला घोड़ा भगता जाये। उत्तर- आग – धुँआ

धूप देख मैं आ जाऊँ, छाँव देख शरमा जाऊँ, जब हवा करे स्पर्श मुझे,मैं उसमें समा जाऊँ। उत्तर – पसीना

शंकर जी का हूँ मैं पर्याय, सबको मेरा रंग रूप सुभाए मैं हूँ नभ पर खग काया, कोई है जो मेरा नाम बताए। उत्तर – नीलकण्ड

चार खंडो का नगर बना, चार कुएं बिन पानी,चोर अठारह उसमें बैठे, लिए एक रानी आया एक दरोगा सबको पीट-पीटकर कुएं में डाला। उत्तर – कैरम – बोर्ड